प्रेस विज्ञप्ति

13 अक्टूबर 2020
13-10-2020
13 अक्टूबर 2020

  • चंडीगढ़, 13 अक्टूबर- हरियाणा विधानसभा आज उस समय ऐतिहासिक पलों की गवाह बनी जब मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विधानसभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र का अनावरण किया। इसके अलावा, उन्होंने विधानसभा की मासिक पत्रिका ‘सदन संदेश’ का पहला संस्करण जारी किया और मौजूदा विधायकों के वाहनों पर लगाने के लिए झंडी भी लॉन्च की।
  • श्री मनोहर लाल ने विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता, उपाध्यक्ष श्री रणबीर गंगवा, संसदीय कार्य मंत्री श्री कंवर पाल, मंत्रियों और विभिन्न राजनीतिक दलों के विधायकों के साथ गीता श्लोकों के उच्चारण के बीच भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र का अनावरण किया।
  • बाद में, श्री मनोहर लाल ने कहा कि आज हरियाणा विधानसभा के लिए ऐतिहासिक क्षण है क्योंकि यह तीन महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की साक्षी बनी है।
  • हरियाणा विधानसभा द्वारा अधिकृत मौजूदा विधायक इस झंडी का इस्तेमाल अपने उन वाहनों पर कर सकेंगे, जो उनके नाम पर पंजीकृत हैं। अगर मौजूदा विधायक के पास अपने नाम से पंजीकृत कोई वाहन नहीं है, तो झण्डी का इस्तेमाल निजी या किराए के वाहनों पर किया जा सकता है। यदि झण्डी वाले वाहन में मौजूदा विधायक नहीं है तो झण्डी को सफेद कवर से ढकना होगा। विधायकों को झंडी के लिए हरियाणा विधानसभा को आवेदन करना होगा। अधिकृत मौजूदा विधायक द्वारा झण्डी के इस्तेमाल के लिए प्राधिकार-पत्र परिवहन आयुक्त, हरियाणा द्वारा निर्धारित प्रपत्र में जारी किया जाएगा। यह प्राधिकार-पत्र हरियाणा विधानसभा का कार्यकाल पूरा होने या मौजूदा विधायक के राज्य विधानसभा का सदस्य रहने तक वैध रहेगा।
  • हरियाणा को गीता की भूमि बताते हुए श्री मनोहर लाल ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर अर्जुन को भगवद गीता का दिव्य संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि हरियाणा और देश के अन्य हिस्सों से लोग विधानसभा सत्र के दौरान सम्मानित सदन की कार्यवाही देखने के लिए विधानसभा गैलरी आते हैं। विधानसभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता चित्र को देखकर वे निश्चित रूप से राज्य की गौरवपूर्ण संस्कृति से प्रेरणा लेंगे।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया-भर में पवित्र भगवद गीता का प्रचार करने के उद्देश्य से वर्तमान राज्य सरकार वर्ष 2016 से अंतर्राष्ट्रीय स्तर का गीता महोत्सव आयोजित कर रही है। इसी श्रृंखला में, गत वर्ष फरवरी में मॉरीशस और अगस्त के महीने में ब्रिटेन में भी अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में भी इसी तरह का आयोजन किया जाने वाला था जिसे कोविड-19 महामारी के कारण टालना पड़ा। उन्होंने कहा कि विदेशों में रहने वाले भारतीय मूल के लोग अपने देशों में गीता महोत्सव के आयोजन के लिए खासे उत्साहित हैं।
  • उन्होंने कहा कि हरियाणा विधानसभा की मासिक पत्रिका ‘सदन संदेश’ से हरियाणा विधानसभा की कार्य-प्रणाली और इसकी अन्य गतिविधियों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी।
  • इससे पहले, हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने विधान सभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र का अनावरण करने, विधानसभा की मासिक पत्रिका ‘सदन संदेश’ का प्रथम संस्करण जारी करने और विधायकों के वाहनों के लिए झंडी लॉन्च करने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने लगभग 5100 साल पहले कुरुक्षेत्र में अर्जुन को भगवद गीता का दिव्य संदेश दिया था और भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र से हरियाणा विधान सभा को एक अलग पहचान मिलेगी। उन्होंने कहा कि भगवद गीता की शिक्षाएं हमें फल की चिन्ता किए बिना सदैव अपने कर्तव्य को निष्ठï से निभाने के लिए प्रेरित करती हैं।
  • श्री गुप्ता ने कहा कि हरियाणा विधानसभा की पत्रिका ‘सदन संदेश’ विधायकों को हरियाणा विधानसभा की नवीनतम गतिविधियों और इसकी विभिन्न समितियों के कामकाज के बारे में अवगत कराएगी।
  • हरियाणा विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री रणबीर गंगवा ने कहा कि प्रदेश की 14वीं विधानसभा तेजी से नए मील पत्थर स्थापित करने की राह पर बढ़ रही है।
  • इस अवसर पर प्रदेश के परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जे.पी. दलाल, सहकारिता राज्य मंत्री डॉ. बनवारी लाल, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा तथा इनेलो के विधायक श्री अभय सिंह चौटाला समेत भाजपा और अन्य राजनीतिक दलों के विधायक मौजूद थे।
     
  • चंडीगढ़, 13 अक्तूबर- हरियाणा के मुख्यमन्त्री श्री मनोहर लाल ने खरीफ फसलों की खरीद में लगे अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे मंडियों में खरीद प्रक्रिया की निगरानी करने के लिए फील्ड का दौरा करें। इसके अलावा, मुख्यालय स्तर के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि धान खरीद के लिए ‘एच फार्म से लेकर जे फार्म, गेट पास, आई फार्म’ के सृजन होने से लेकर मंडी से वेयरहाउस तक उठान तथा आई फार्म की स्वीकृति प्रक्रिया को ऑनलाइन किया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि एच फार्म जारी होने के एक सप्ताह के अंदर-अंदर या आई फार्म स्वीकृत होने के 72 घंटों में किसान को उसकी खरीद की अदायगी हर हालत में हो जाए।
  • मुख्यमंत्री आज यहां धान खरीद प्रक्रिया से जुड़े विभागों के अधिकारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
  • मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए कि खरीद प्रक्रिया से जुड़ा कोई एक अधिकारी या कर्मचारी भी लापरवाही बरतता है तो पूरी प्रक्रिया डगमगा जाती है। उन्होंने कहा कि मंडी बोर्ड के सचिव से लेकर आढ़ती, मिलर, ट्रांसपोर्टर हर किसी की जिम्मेवारी तय की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मंडी से जुड़ी हर राइस मिल को एक समानुपात में स्टॉक का आवंटन होना चाहिए। यह कतई नहीं होना चाहिए कि एक मिल को उसके निर्धारित आवंटन कोटे से अधिक स्टॉक जारी किया जाए।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी प्रक्रिया का एक चार्ट मंडीवार, किसानवार और आढ़तीवार तैयार किया जाना चाहिए और इसे वैबसाइट पर अपलोड किया जाए ताकि कोई भी व्यक्ति इसका अवलोकन कर सके। विशेषकर, किसान को इस बात की जानकारी हो सके कि किस दिन उसका ‘एच-फार्म’ जारी हुआ है और उसी के अनुसार वह मंडी में आए। उन्होंने कहा कि वे स्वयं चण्डीगढ़ से डेशबोर्ड पर पूरी खरीद प्रक्रिया की जानकारी निरन्तर लेते रहेंगे।
  • बैठक में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा अवगत करवाया गया कि पहले आरंभ में खरीद प्रक्रिया ऑफलाइन थी अब इसे ऑनलाइन कर दिया गया है। हर प्रकार की जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगी कि किस दिन एच फार्म, जे फार्म, गेट पास व आई फार्म जारी हुआ। किस दिन जिला प्रबंधक या बैंकर्स को ऑनलाइन भुगतान के लिए पे-नाउ का बटन क्लिक करना होगा।
  • बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी.के. दास, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री देवेन्द्र सिंह, अतिरिक्त प्रधान सचिव श्री वी.उमाशंकर, उप-अतिरिक्त प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़, हैफेड के प्रबंध निदेशक श्री डी.के.बेहरा, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के निदेशक श्री चन्द्र शेखर खरे, हरियाणा भण्डारण निगम के प्रबंध निदेशक श्री राजीव रतन, आईजी सीआईडी आलोक मित्तल तथा हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड की मुख्य प्रशासक श्रीमती मेघा कटारिया भी उपस्थित थी।