प्रेस विज्ञप्ति

13 नवम्बर 2020
13-11-2020
13 नवम्बर 2020

  • चंडीगढ़, 13 नवंबर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि राज्य की प्राचीन धरोहरों को पर्यटन की दृष्टि से विश्व के मानचित्र पर लाने की पहल करें । इसमें महाभारत काल से जुड़े धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र, सिख साम्राज्य की पहली राजधानी लौहगढ़ या मोहनजोदड़ो व हड़प्पा से भी पहले की सभ्यता से जुड़ी धरोहरों को शामिल किये जाने की आवश्यकता है ।
  • मुख्यमंत्री आज पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग द्वारा भारतीय डाक विभाग के सहयोग से प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता के प्रसिद्ध पुरातात्विक स्थल हरियाणा के राखीगढ़ी पर बनाए गए विशेष आवरण को जारी करने के अवसर पर बोल रहे थे। इस अवसर पर पुरातत्व एवं संग्रहालय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अनूप धानक भी उपस्थित थे।
  • मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर धनतेरस व दीपावली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पौराणिक कथाओं व संस्कृति और इतिहास का अपना एक महत्व होता है। कोई भी देश व प्रदेश तब तक प्रगति नहीं कर सकता जब तक वहां की युवा पीढ़ी को अपने इतिहास व संस्कृति की जानकारी नहीं होती। उन्होंने कहा कि हरियाणा में 100 से अधिक ऐसे स्थल हैं, जिनका ऐतिहासिक व पौराणिक दृष्टि से महत्व है और ऐसे स्थलों का संरक्षण करने की दिशा में कार्य करना चाहिए ताकि भावी पीढ़ी को प्राचीन संस्कृति के महत्व और प्रेरित किया जा सके। इसके साथ ही ऐसे स्थलों को सहेज कर रखने और इन्हें विकसित करने से पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।
  • उन्होंने कहा कि सिख साम्राज्य के प्रथम सेनापति बाबा बंदा सिंह बहादुर ने मुगलों के अत्याचारों के विरुद्ध जो लड़ाई लड़ी थी, उसकी शुरुआत हरियाणा से ही हुई थी और उनकी राजधानी लौहगढ़, यमुनानगर को भी पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने की पहल की गई है। वहां पर एक संग्रहालय व मार्शल आर्ट स्कूल की स्थापना की जा रही है। इसके अलावा, सरस्वती नदी के उद्गम स्थल आदिबद्री को भी भव्य रूप दिया जा रहा है।
  • पुरातत्व एवं संग्राहलय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अनूप धानक ने विशेष कवर जारी करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि विशेष कवर जारी करने से हरियाणा राज्य में पुरास्थल के महत्व को चिहिन्त करने के लिए एक यादगार स्मारिक बनेगी। हरियाणा की अमूल्य धरोहर के रूप में यह स्थल पीढ़ियों की विरासत है।
  • मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन ने कहा कि राखीगढ़ी का संबंध हड़प्पा और मोहनजोदड़ो सभ्यता से भी पुरानी सभ्यता से है, इसलिए इसका एक अलग महत्व है। इसकी खुदाई के दौरान जो अति प्राचीन वस्तुएं व अमूल्य कलाकृतियां मिली थी, उनसे पता चलता है कि आज का हरियाणा क्षेत्र उस समय बहुत उन्नत रहा होगा। उन्होंने कहा कि राखीगढ़ी में संग्राहलय व व्याख्यान केंद्र स्थापित किया जा रहा है । उन्होंने मुख्यमंत्री का विशेष आभार व्यक्त किया जिनकी पहल पर सरस्वती हैरिटेज बोर्ड का गठन किया गया है, जो प्राचीन सभ्यता को विश्व के मानचित्र पर लाने की दिशा में काम कर रहा है।
  • पुरातत्व एवं संग्राहलय विभाग के प्रधान सचिव डॉ. अशोक खेमका ने भी राखीगढ़ी पुरातात्विक स्थल पर विशेष आवरण जारी करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।
  • इस अवसर पर मुख्यमंत्री की उप प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़, पुरातत्व एवं संग्राहलय विभाग की निदेशक श्रीमती मनदीप कौर, चंडीगढ़ सर्कल के मुख्य प्रधान डाकपाल श्री वी. के. गुप्ता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
     
  • चंडीगढ़, 13 नवंबर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021’ की मेजबानी के लिए राज्य पूरी तरह तैयार है। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को जहां भी बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की आवश्यकता हो उसे प्राथमिकता से पूरा करने के निर्देश दिए।
  • मुख्यमंत्री ने यह निर्देश यहां कल देर सायं आयोजित ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021’ के संबंध में खेल एवं युवा मामले विभाग के साथ बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए। बैठक में खेल एवं युवा मामलों के राज्य मंत्री श्री संदीप सिंह भी उपस्थित थे। बैठक में 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021' के सफल आयोजन के लिए मुख्यमंत्री, खेल मंत्री और मुख्य सचिव की अध्यक्षता में तीन समितियों क्रमश: मॉनिटरिंग कमेटी, कोर कमेटी और कार्यकारी समिति की भी मंजूरी दी गई है।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा देश में अग्रणी स्पोट्र्स हब के रूप में उभरा है और यहां के खिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार विभिन्न खेलों के आयोजन के लिए उचित व्यवस्था सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। देश भर से भाग लेने के लिए आने वाले खिलाडिय़ों को पर्याप्त आवासीय और अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।
  • उन्होंने कहा कि ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021’ के आयोजन का उद्देश्य खिलाडिय़ों को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए एक बेहतर मंच देना है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021’ को ‘यादगार’ बनाने के लिए निर्देश दिए ताकि हरियाणा व खेलों के इतिहास में इसे लंबे समय तक याद रखा जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य के खिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई है, जिसके कारण राज्य को ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021’ की मेजबानी करने का अवसर मिला है।
  • बैठक के दौरान, मुख्यमंत्री को आगामी आयोजन के लिए खेल अवसंरचना के अपग्रेडेशन के लिए आवश्यक सुविधाओं की सूची से अवगत कराया गया, जिनमें प्रमुख स्थानों पर खिलाडिय़ों के लिए उच्च स्तरीय जिम स्थापित करना और विभाग द्वारा पहले ही स्कोर बोर्ड की सुविधा किया जाना शामिल है। इसके अलावा, प्रतिभागियों के रहने की व्यवस्था के साथ-साथ खेल अवसंरचनाओं की जियो-मैपिंग की गई है।
  • मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि पंचकूला के सेक्टर -3 स्थित ताऊ देवी लाल खेल परिसर में उद्घाटन और समापन समारोह आयोजित किया जाएगा। ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021’ में एथलेटिक्स, टेबल टेनिस, तीरंदाजी , रेसलिंग, बैडमिंटन, वेट लिफ्टिंग, बॉक्सिंग, शूटिंग, हॉकी, साइकलिंग, बास्केटबॉल, कबड्डी, वॉलीबॉल, खो-खो, फुटबॉल, जूडो, तैराकी, जिमनास्टिक्स, लॉन टेनिस, लॉन बाउल और हैंडबॉल जैसी विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं प्रदेशभर के विभिन्न जिलों में आयोजित की जाएंगी।
  • बैठक में मुख्यमंत्री ने खेल आयोजन के लिए आवश्यक अवसंरचना के विकास और अपग्रेडेशन के लिए बजट को भी मंजूरी दी, जिसके बाद इस बजट को भारत सरकार को भेजा जाएगा।
  • बैठक में मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी. एस. ढेसी, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और वित्तायुक्त श्री संजीव कौशल, खेल एवं युवा मामले विभाग के प्रधान सचिव श्री योगेन्द्र चौधरी, खेल एवं युवा मामले विभाग के निदेशक श्री एस. एस. फुलिया सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
  • चंडीगढ़, 13 नवंबर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेशवासियों को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई दी है। उन्होंने दीपों के इस पावन पर्व की शुभकामनाएं देते हुए ईश्वर से कामना की है कि यह उत्सव सभी के जीवन में नया प्रकाश लेकर आए और प्रदेश सदा, सुख, समृद्धि और सौभाग्य से आलोकित रहते हुए भारत के मानचित्र पर अपनी चमक बिखेरता रहे।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी कोरोना-काल चल रहा है इसलिए अपनों का ख्याल रखें, मास्क पहनें व दूसरों से उचित दूरी बनाए रखें। मिट्टी के दीये जलाएं, इस पर्व पर आतिशबाजी न करें ताकि वातावारण प्रदूषण-मुक्त बना रहे। उन्होंने राज्य के सभी लोगों से परस्पर प्रेम, सद्भाव व भाईचारे के साथ मिल-जुलकर रहने का संदेश दिया।
     
  • चंडीगढ़, 13 नवंबर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की राज्य के सभी लोगों को घर उपलब्ध करवाने की सोच को अमलीजामा पहनाते हुए ‘हरियाणा आवास बोर्ड’ ने आगामी 18 नवंबर 2020 को पंचकूला, हिसार, गुरूग्राम व फरीदाबाद में 579 फ्लैटों की ई-नीलामी करने का निर्णय लिया है। इनके बाद, 7312 फ्लैटों की ईडब्लूएस/बीपीएल श्रेणी के लोगों के लिए तथा 84 व्यावसायिक संपत्तियों की भी ई-नीलामी की जाएगी।
  • इस बारे में जानकारी देते हुए बोर्ड के मुख्य प्रशासक श्री अंशज सिंह ने बताया कि राज्य सरकार प्रदेश में रहने वाले सभी जरूरतमंद लोगों के घर के सपने को साकार करने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने बताया कि इसी दिशा में कदम उठाते हुए बोर्ड द्वारा अम्बाला, हिसार,फरीदाबाद, पचंकूला,सिरसा, सोनीपत,गुरुग्राम, बहादुरगढ़, नगल सोठियां (हिमशिखा), मतलौडा,भिवानी,कुरूक्षेत्र,पानीपत ,रोहतक,झज्जर, कैथल, रेवाड़ी, धारूहेड़ा में ‘हरियाणा आवास बोर्ड’ द्वारा बनाए गए फ्लैटों की ई-नीलामी की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस बारे में विस्तृत जानकारी बोर्ड की वैबसाईट पर उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि 18 नवंबर 2020 को जिन फ्लैटों की ई-नीलामी होगी, उनके लिए पंजीकरण गत एक अक्तूबर 2020 से शुरू किया गया था और यह 17 नवंबर 2020 के सायं 4 बजे तक जारी रहेगा। इसमें सामान्य श्रेणी के लिए 1000 रूपए पंजीकरण फीस रखी गई है जबकि ईडब्लूएस/बीपीएल के लिए नि:शुल्क है।
  • मुख्य प्रशासक ने 18 नवंबर को ई-नीलामी किए जाने वाले फ्लैटों की आरक्षित कीमत के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पंचकूला के सैक्टर-14 के टाईप-1 फ्लैट के लिए 18 लाख रूपए (कवर्ड एरिया 42.25 वर्ग मीटर), टाईप-2 फ्लैट के लिए 25 लाख (कवर्ड एरिया 52.56 वर्ग मीटर), टाईप-3 फ्लैट के लिए 35 लाख ( कवर्ड एरिया 70.45 वर्ग मीटर),टाईप-4 फ्लैट के लिए 40 लाख (कवर्ड एरिया 90.45 वर्ग मीटर), टाईप-5 फ्लैट के लिए 50 लाख (कवर्ड एरिया 142.71 वर्ग मीटर) सैक्टर-6 में डुप्लेक्स के लिए 160 लाख (कवर्ड एरिया 167.22 वर्ग मीटर), सैक्टर-20 में टाईप-1 फ्लैट के लिए 90 लाख (कवर्ड एरिया 191.31 वर्ग मीटर), हिसार के सैक्टर-1 व 4 में एचआईजी-1 फ्लैट के लिए 14.89 लाख (कवर्ड एरिया 68.68 वर्ग मीटर), एमआईजी-1 फ्लैट के लिए 14.02 लाख (कवर्ड एरिया 69.74 वर्ग मीटर), एलआईजी-1 फ्लैट के लिए 12.17 लाख (कवर्ड एरिया 38.04 वर्ग मीटर), फरीदाबाद के सैक्टर-28 में एमआईजी-1 फ्लैट के लिए 150 लाख (कवर्ड एरिया 195.65 वर्ग मीटर) एवं गुरुग्राम टाईप-2 फ्लैट के लिए 150 लाख रूपए (कवर्ड एरिया 125.50 वर्ग मीटर ) आरक्षित कीमत निर्धारित की गई है ।