प्रेस विज्ञप्ति

19 जून 2020
19-06-2020
19 जून 2020

  • चंडीगढ़, 19 जून- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेशवासियों का आह्वान किया है कि इस कोरोना के समय में 21 जून को 6वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अपने-अपने घरों में रहकर अपने परिवार के साथ योग अभ्यास करें।
  • उन्होंने कहा कि चूंकि इस साल कोरोना संकट के बीच अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है तो यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के सभी उपायों का भी अपनाया जाए।
  • मुख्यमंत्री आज श्री कृष्णा आयुष विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र तथा हरियाणा योग परिषद के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित योगा फॉर वल्र्ड हेल्थ ' विषय पर अंतरराष्ट्रीय योग वेबीनार में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस साल, हम योग का अभ्यास करें और दुनिया को एकता का संदेश दें और विश्व शांति के लक्ष्य को प्राप्त करें।
  • वेबिनार में हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने भाग लिया और स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज और योग गुरू बाबा रामदेव ने जीवन में योग के महत्व पर अपने विचार सांझा किए और सबका मार्गदर्शन किया।
  • मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि हर वर्ष 21 जून को प्रदेश व देश और अन्य देशों में सामूहिक रूप से एकत्र होकर योग करने के कार्यक्रम आयोजित किए जाते थे, परंतु इस बार वैश्विक कोरोना महामारी के कारण सामूहिक रूप से एकत्र होकर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस नहीं मना पाएंगे। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2020 को घर में रहते हुए अपने परिवार के साथ योग करके मानना चाहिए ।
  • उन्होंने कहा कि योग प्राचीनकाल से भारत की पहचान है, परंतु कालांतर में योग केवल साधु, संतों और सन्यासियों के लिए ही माना जाने लगा और आमजन मानस योग से दूर होता गया। हज़ारों वर्षों के बाद प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने योग को विश्व स्तर पर पहचान दिलाई और वर्ष 2015 में यूएन में प्रस्ताव पारित होने के बाद 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता मिली और आज दुनिया के लगभग सभी देशों में योग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि योग की विरासत को योग गुरू बाबा रामदेव ने भी आगे बढ़ाया है।
  • उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार भी निरंतर योग के प्रसार के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि योग के लिए गाँवों में व्यायामशालाएं स्थापित की गई हैं और इन व्यायामशालाओं में एक हज़ार योग शिक्षक नियुक्त किए गए हैं। इसके साथ ही, योग के महत्व को बच्चों-बच्चों तक पहुंचाने के लिए स्कूल स्तर पर योग को पाठ्यक्रम में भी शामिल किया गया है।
  • उन्होंने कहा कि योग के आठ अंग-यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान, समाधि होते हैं। जब व्यक्ति योग के इन 8 अंगों को अपना लेगा तब योग का वास्तविक लाभ प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि योग न केवल शारीरिक दृष्टि से आवश्यक है बल्कि मन की शांति के लिए भी योग का अपना महत्व है। इसलिए सबको अपनी दिनचर्या में योग को शामिल करना चाहिए। योग से ही आज के समय में तनावग्रसत जीवन में शांति मिल सकती है। इसलिए योग का आजीवन अभ्यास करना चाहिए।
  • वेबिनार में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा, पदमश्री डॉक्टर नागेंद्र, हार्वर्ड स्कूल ऑफ मेडिसिंस के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर सतवीर खालसा, अमेरिका से डॉ इंद्रनील बसु और डॉक्टर सुशील शर्मा, डॉक्टर ईश्वर बसवरेड्डी, जो मोरारजी देसाई राष्ट्रीय संस्थान के निदेशक भी हैं, पीजीआई चंडीगढ़ से वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉक्टर अक्षय आनंद ने भाग लिया।
     
  • चंडीगढ़, 19 जून- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस का टेस्ट अब 2400 रुपये में करवाने का निर्णय लिया है। ये संशोधित दरें तुरंत प्रभाव से लागू होंगी।
  • एक सरकारी प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश सरकार ने निर्देश जारी किए हैं कि कोई भी निजी प्रयोगशाला कोविड-19 के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट के लिए 2400 रुपये से ज्यादा शुल्क नहीं लेगी। जीएसटी/ कर सहित, यदि कोई हो, तो हरियाणा में सैंपल, डॉक्यूमेंटेशन और रिपोर्टिंग की पिकअप पैकिंग और परिवहन में शामिल लागत इस 2400 रुपये में शामिल होगी। हालांकि, हरियाणा में आईसीएमआर के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए प्रदेश में कोविड-19 के टेस्ट निजी प्रयोगशालाओं के माध्यम से करवाए जा रहे थे, जिसकी पहले कीमत 4500 रूपये प्रति टेस्ट थी। इसके अलावा, प्रयोगशालाओं को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि वे टेस्ट की दरों को सही तरीके से प्रदर्शित करें।
  • उन्होंने बताया कि प्राइवेट प्रयोगशालाओं को कोविड-19 टेस्ट सम्बन्धित परिणाम के रियल टाइम के अनुसार डाटा राज्य सरकार व आईसीएमआर के साथ सांझा करना होगा। इसके लिए आईएमसीआर के पोर्टल तथा हरियाणा सरकार के पोर्टल https://covidsample.haryana.gov.in पर जानकारी देनी होगी।
  • प्रवक्ता ने बताया कि जिस व्यक्ति का टेस्ट किया जाएगा, उसके तथा सैंपल लेते समय, व्यक्ति की पहचान, पता और सत्यापित मोबाइल नंबर, को सैंपल रेफरल फॉर्म (एसआरएफ) के अनुसार रिकॉर्ड के लिए नोट किया जाए। नमूना लेने के समय डाटा को आरटी-पीसीआर ऐप पर अपलोड किया जाए। परीक्षण की रिपोर्ट पूरी होने के तुरंत बाद रोगी को सूचित किया जाना चाहिए। कोरोना पॉजिटिव टैस्ट पाए जाने पर सम्बन्धित प्रयोगशाला को जिला सिविल सर्जन को ई-मेल के माध्यम से सूचित करना होगा।
  • उन्होंने बताया कि सभी उपायुक्तों एवं सिविल सर्जनों को प्रयोगशालाओं पर कड़ी निगरानी रखने और एनएबीएल और आईसीएमआर द्वारा मंजूर प्रयोगशालाओं द्वारा कोविड-19 के टेस्ट के लिए दरों को सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए गये हैं। इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश दिए गए हैं।
  • प्रवक्ता ने बताया कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार विभिन्न उपाय कर रही है। प्रदेश सरकार सरकार राज्य के अस्पतालों में नि: शुल्क टेस्ट और उपचार प्रदान कर रही है।
     
  • चंडीगढ़ 19 जून-हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने हरियाणा शासन सुधार प्राधिकरण (एचजीआरए) का गठन किया है। एचजीआरए का मुख्य कार्य कोरोना समय में लोगों की आवश्यक जरूरतों को पूरा करने हेतु नीतियों को प्राथमिकता देते हुए उत्पादन और आपूर्ति श्रंख्ला में आ रहे व्यवधानों को दूर करने हेतु अल्पकालिक और मध्यम अवधि की भावी योजना तैयार करना है। इसका उद्देश्य शिक्षा, स्वास्थ्य, खाद्य सुरक्षा, सार्वजनिक स्वास्थ्य और आवास क्षेत्रों में बाजार के संबंध में राज्य की भूमिका को फिर से परिभाषित करना है।
  • एक सरकारी प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि एचजीआरए के अध्यक्ष, प्रो. मोद कुमार इस उद्देश्य के लिए गठित टास्क ग्रुप के कार्यों का समन्वय करेंगे।
  • उन्होंने कहा कि अल्पकालिक और मध्यम अवधि की भावी योजना तैयार करने के लिए कई टास्क ग्रुप गठित किए गए हैं। श्री टी. सी. गुप्ता राज्य सरकार का प्रतिनिधित्व करेंगे और उन्हें प्रत्येक टास्क ग्रुप से जुड़े वरिष्ठ सिविल सेवकों की एक टीम सदस्य-सचिव के रूप में सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के नीति आयोग के सदस्य प्रो0 रमेश चंद खाद्य तथा कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र के लिए गठित टॉस्क ग्रुप के अध्यक्ष होंगे और उद्योग एवं वाणिज्य के लिए गठित टॉस्क ग्रुप के अध्यक्ष मारुति सुजुकि के चेयरपर्सन आर.सी. भार्गव होंगे।
  • प्रवक्ता ने बताया कि स्वास्थ्य, जन स्वास्थ्य तथा निकाय सेवाओं के लिए गठित किए गए ग्रुप-दो के लिए जन स्वास्थ्य फांउडोशन, नई दिल्ली के डॉ. के.एस. रेड्डी को अध्यक्ष, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली के पूर्व महानिदेशक डॉ. वी.एम. कटोच को सह अध्यक्ष बनाया गया है। सबके लिए आवास पर गठित टॉस्क ग्रुप के अध्यक्ष नीति आयोग के प्रमुख सलाहकार श्री अशोक जैन होंगे। दिल्ली प्राद्यौगिकी विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के कुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह कौशल एवं शिक्षा के लिए गठित टॉस्क ग्रुप के अध्यक्षत होंगे और राजस्व सृजन, पर्यटन आथित्य सत्कार एवं आबकारी के लिए गठित टॉस्क ग्रुप के अध्यक्ष नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर के प्रोफेसर मुकुल अशर होंगे।
  • आवश्यक क्षेत्र के लिए सुशासन नीति (सूचना प्राद्यौगिकी सहित) के लिए गठित टास्क ग्रुप के अध्यक्ष आइ.डी.सी, चंडीगढ़ के निदेशक और हरियाणा प्रशासनिक सुधार प्राधिकरण के अध्यक्ष प्रोफसर प्रमोद कुमार होंगे।
  • उन्होंने कहा कि भावी योजना के लिए संदर्भ की शर्तों में उद्योग, व्यापार, सेवाओं, कृषि क्षेत्र आदि की चुनौतियों को समझाने और अवसरों की पहचान करना और युवाओं के लिए अवसरों के सृजन और आश्रय, स्वच्छता, स्वास्थ्य देखभाल, बच्चों की शिक्षा और खाद्य सुरक्षा प्रदान करने सहित विशेष रूप से गरीबों के लिए आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए संस्थागत सुधार का सुझाव देना शामिल है।
  • उन्होंने कहा कि भावी योजना में लोगों की बुनियादी जरूरतों जैसे भोजन, स्वास्थ्य, शिक्षा, सार्वजनिक स्वास्थ्य, परिवहन, आश्रय और नागरिकों की भलाई को कवर करना और अल्पकालिक और मध्यम अवधि की योजना का सुझाव देना शामिल है। भावी योजना कोविड-19 महामारी की चुनौती से लडऩे के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई नीतियों, कार्यक्रमों, योजनाओं के पुन: अपनाने के लिए रणनीति का सुझाव दे सकती है। इसमें उत्पादन और आपूर्ति श्रृंखलाओं में हुए व्यवधानों का पुन: परीक्षण और संशोधन का सुझाव देना शामिल होगा। टास्क ग्रुप के गठन के 3 महीने के भीतर अल्पकालिक भावी योजना और 6 महीने के भीतर मध्यम अवधि की योजना प्रस्तुत करना अनिवार्य है।