प्रेस विज्ञप्ति

19 मार्च 2021
19-03-2021

चंडीगढ़, 19 मार्च- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य भर में हाल ही में कोविड-19 मामलों में हुई वृद्धि को नियंत्रित करने के लिए जिला, खण्ड और गांव स्तर पर ‘टेस्ट, ट्रैक एंड ट्रीट’ रणनीति के प्रभावी कार्यान्वयन को अपनाया जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रशासनिक सचिवों, जिला उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों, नगर निगम आयुक्तों और संबंधित अन्य अधिकारियों के साथ कोविड-19 स्थिति व टीकाकरण पर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री श्री अनिल विज अंबाला से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण उत्पन्न हो सकने वाली किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए सतर्क रहना चाहिए। उन्होंने कोविड-19 के प्रबंधन की तैयारियों में तेजी लाने, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, क्लिनिकल मैनेजमेंट पर अधिक ध्यान केंद्रित करने, कड़ी निगरानी के साथ-साथ जन-जागरूकता गतिविधियों को बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों और मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) का पालन करना अनिवार्य है और इसे सही मायने में लागू किया जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए कि कोविड-19 रणनीतियों के कार्यान्वयन के समय अत्यंत सावधानी बरती जानी चाहिए ताकि आमजन के बीच किसी प्रकार का डर का माहौल पैदा न हो। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिले, गांव और खण्ड स्तर पर कोरोना मामलों पर नियमित निगरानी की जानी चाहिए। कंटेनमेंट जोन की निगरानी के बारे में संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि आवश्यक हो तो माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किए जाएं और इनमें एंट्री व एग्जिट प्वांट, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और क्लिनिकल मैनेजमेंट प्राथमिकता से ध्यान दिया जाए।

गैर सरकारी संगठनों की भागीदारी सुनिश्चित करें

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि सामुदायिक जागरूकता एक बार फिर से समय की जरूरत बन गई है और इसके लिए सरकार के साथ-साथ गैर-सरकारी संगठनों, पंचायतों, स्वयंसेवकों और आरडब्ल्यूए की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए।

वायरस प्रसार का केंद्र बदल गया है

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार इस कोरोना वायरस का प्रसार केंद्र एनसीआर क्षेत्रों से बदलकर जीटी रोड के साथ लगते जिले बन गए हैं। इन जिलों के साथ-साथ अन्य सभी जिलों में भी वायरस के फैलाव को रोकने की प्रभावी रणनीति बनाई जानी चाहिए और उचित रूप से परीक्षण, स्क्रीनिंग, टीकाकरण किया जाना चाहिए। राज्यभर में व्यापक तौर पर जन जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए।

आने वाले त्योहारों के मौसम में भीड़-भाड़ वाले समारोह से बचें

आगामी त्योहारों के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने आमजन से आग्रह किया कि कोरोना मामलों में हो रही वृद्धि के चलते लोगों को किसी भी तरह के समारोहों से बचना चाहिए और इन अवसरों को अपने परिवार के सदस्यों के साथ अपने घर पर मनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार चाहे कितने भी कदम उठा ले, वांछित परिणाम तभी मिलते हैं जब लोगों का सहयोग हो।

बड़े पैमाने पर चालान अभियान चलाएं

स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री श्री अनिल विज ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो लोग कोविड-19 दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते पाए जाते हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। वायरस के प्रसार की श्रृंखला को तोडऩे के लिए जागरूकता अभियान के साथ-साथ मास्क न पहनने वालों के वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए और उनके चालान किए जाएं। इसके लिए प्रदेशभर में व्यापक चालान अभियान चलाया जाना चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्री ने निर्देश देते हुए कहा कि सामाजिक समारोहों और सार्वजनिक स्थानों पर मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए जिला और उप-मंडल स्तरों पर तीन सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। यह समिति सामाजिक समारोहों में जाकर निगरानी करे कि वहां पर एसओपी का अनुपालन हो रहा है या नहीं।

उन्होंने कहा कि स्कूलों और उद्योगों में स्वच्छता सुविधाओं के साथ-साथ टेस्टिंग और स्क्रीनिंग को भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इसके अलावा, सभी सरकारी अस्पतालों में टेस्टिंग सुविधाओं का विस्तार किया जाना चाहिए।

18 मार्च, 2021 तक लगभग 8,31,953 लोगों का हुआ टीकाकरण

बैठक के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने हरियाणा में कोविड टीकाकरण की स्थिति के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 18 मार्च 2021 तक 8,31,953 लोगों को टीका लगाया गया था। इसमें से 1,73,928 (80 प्रतिशत) हेल्थ केयर वर्कर्स को पहली खुराक और लगभग 1,03,417 (59 प्रतिशत) को दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

इस प्रकार 91,088 (67 प्रतिशत) फ्रंट लाइन वर्कर्स को पहली खुराक और 25,696 (28 प्रतिशत) को दूसरी खुराक दी जा चुकी है। इसके अलावा, 60 साल से ऊपर और 45-60 आयु वर्ग के 4,37,824 लोगों को पहली खुराक दी जा चुकी है।

श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि राज्य भर में व्यापक टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है और पिछले तीन दिनों में लगभग 3.10 लाख लोगों को टीका लगाया गया है। उन्होंने आगे बताया कि मेगा सोमवार और मेगा मंगलवार ड्राइव के तहत एक लाख टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण, अर्ध-ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में टीकाकरण पर अधिक जोर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग पर फिर से विशेष बल दिया गया है और स्वास्थ्य विभाग ने कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की संख्या को 10 लोगों तक ले जाने की रणनीति अपनाई है। इसके अलावा, प्रतिदिन टेस्ट की संख्या बढ़ाकर 25,000 की जाएगी।

बैठक में मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और वित्त आयुक्त श्री संजीव कौशल, चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री आलोक निगम, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री देवेंद्र सिंह, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा, स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री महावीर सिंह, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अनुराग रस्तोगी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी. उमाशंकर, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री विजयेंद्र कुमार, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव और सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल, आयुष्मान भारत हरियाणा स्वास्थ्य संरक्षण प्राधिकरण की मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीमती अमनीत पी. कुमार, मुख्यमंत्री की उप प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के निदेशक श्री अशोक कुमार मीणा, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, हरियाणा के मिशन निदेशक श्री प्रभजोत सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री मनोज यादव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।