प्रेस विज्ञप्ति

24 सितम्बर 2020
24-09-2020
24 सितम्बर 2020

  • चण्डीगढ़, 24 सितम्बर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज यहां श्रवण दिव्यागों के लिए जेजे व पोक्सो एक्ट के विडियो मॉड्यूल को लांच किया।
  • श्री मनोहर लाल ने विडियो मॉड्यूल को लांच करने के उपरांत कहा कि हरियाणा बाल संरक्षण आयोग का सांकेतिक भाषा को प्रमोट करने के साथ-साथ श्रवण दिव्यांगों को बाल संरक्षण कानून जेजे एक्ट व पोक्सो एक्ट के बारे में जागरूक करने की तरफ एक सराहनीय कदम है। इन मॉडयूल के माध्यम से सभी श्रवण दिव्यांगों को कानून व अपने अधिकारों को समझने में आसानी होगी।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति में पूरे भारत में एक सांकेतिक भाषा लागू करना ऐतिहासिक निर्णय है। एक सांकेतिक भाषा होने से जहां श्रवण दिव्यांगों को कम्युनिकेशन करने में आसानी होगी वहीं राष्ट्रीय स्तर पर उनकी कामयाबी का रास्ता भी खुलेगा। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में श्रवण दिव्यांगों को मिले अधिकार आने वाले समय में उनकी कामयाबी का रास्ता खोलेंगे।
  • उन्होंने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार ना सिर्फ दिव्यांग बल्कि हर नागरिक के उत्थान के लिए कार्य कर रही हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि देखभाल व सरंक्षण की आवश्यकता वाले तथा किसी भी प्रकार से एबल्ड बच्चे जो बाल आश्रम में रह रहे हैं उनके लिए भी सरकार विशेष पॉलिसी बनाएगी ताकि उन्हें पढने-लिखने सहित विभिन्न कार्यों में किसी प्रकार की परेशानी ना हो। किसी भी प्रकार एबल्ड बच्चे जिस भी क्षेत्र में पढ़ाई करना चाहते हैं सरकार इनके एडमिशन की व्यवस्था करवाने की दिशा में काम कर रही है।
  • आयोग की चेयरपर्सन ज्योति बैंदा ने बताया कि प्राथमिक चरण में आयोग ने उक्त दोनों एक्ट के कानूनी पहलूओं को लेकर विडियो मॉड्यूल बनाए हैं। ये मॉड्यूल भारतीय सांकेतिक भाषा में होने से कोई भी श्रवण दिव्यांग इन्हें आसानी से समझ सकेगा तथा बाल संरक्षण कानूनों के बारे में जान सकेगा। उन्होंने बताया कि आयोग का लक्ष्य है कि इन मॉड्यूल को सभी श्रवण दिव्यांगों के साथ-साथ स्कूल जाने वाले श्रवण दिव्यांग बच्चों के लिए भी लागू करवाना है ताकि वे अपने अधिकारों के बारे में जान सकें।
  • श्रीमती बैंदा ने बताया कि एक स्टडी के अनुसार विश्व भर में 72 मिलीयन लोग दिव्यांग हैं। इनमें से 80 फीसदी लोग विकसित देशों में रहते हैं और ये 300 प्रकार की सांकेतिक भाषा बोलते हैं। उन्होंने बताया कि 2011 की जनगणना के अनुसार देश में 1.3 मिलियन लोग ऐसे हैं जो केवल श्रवण दिव्यांग हैं। ऐसे में सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति में पूरे भारत में एक ही सांकेतिक भाषा लागू करना सराहनीय कदम है। उन्होंनेे कहा कि प्रथम चरण में आयोग ने जेजे व पोक्सो एक्ट के मॉड्यूल श्रवण दिव्यांगों के लिए बनाए हैं। आने वाले समय में हर प्रकार के दिव्यांगों के लिए आयोग उन्हें उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करने के लिए विडियो मॉड्यूल बनाएगा।
     
  • चण्डीगढ़, 24 सितम्बर- प्रदेश के लोगों को सुरक्षित, सकुशल और किफायती परिवहन सुविधा प्रदान करने के मकसद से हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज हिसार जिला के अग्रोहा में नवनिर्मित बस स्टैंड का उद्घाटन किया। बस स्टैंड का निर्माण 2 करोड़ 30 लाख रुपये की लागत से किया गया है। आस-पास के गांवों के लोगों की जरूरतों को पूरा करने के अतिरिक्त, यह बस स्टैंड सिरसा, दिल्ली, गुरुग्राम, चंडीगढ़ और उत्तराखंड, राजस्थान और पंजाब जैसे लंबे मार्गों पर यात्रा करने वाले यात्रियों को भी लाभान्वित करेगा। इस बस स्टैंड से हर 10 मिनट के अंतराल पर लंबे रूट की बसें चलेंगी।
  • श्री मनोहर लाल ने आज यहां वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से इस बस स्टैंड का उद्घाटन किया। इस अवसर पर परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा भी उपस्थित थे, जबकि उप-मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला और पुरातत्व एवं संग्रहालय राज्यमंत्री श्री अनूप धानक हिसार के कार्यक्रम में शामिल हुए।
  • इस अवसर पर श्री मनोहर लाल ने कहा कि जिला हिसार में अग्रोहा शहर एक विशेष महत्व रखता है क्योंकि इसे महाराजा अग्रसेन की राजधानी के रूप में भी जाना जाता है और अब इसे एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल के रूप में विकसित किया गया है। उन्होंने कहा कि महाराजा अग्रसेन के नाम पर एक मेडिकल कॉलेज अग्रोहा में पहले से ही संचालित है।
  • श्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा की परिवहन सेवा देश की सर्वश्रेष्ठ परिवहन सेवाओं में से एक है और अपने लोगों को सुरक्षित, सकुशल, किफायती और विश्वसनीय परिवहन सुविधा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि अग्रोहा का बस स्टैंड हिसार बस स्टैंड से केवल 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और रोजाना 450 टाइमिंग्स (समय) पर बसें इस बस स्टैंड से अलग-अलग मार्गों पर चलेंगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य में 128 बस स्टैंड हैं।
  • उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने यात्रियों की सुविधा के लिए ग्रामीण सडक़ों पर बस क्यू शेल्टर के निर्माण का काम शुरू किया है। इसके अलावा, जिला परिषदों को आवश्यकता के अनुसार इन बस क्यू शेल्टरों के निर्माण के लिए अधिकृत किया गया है
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में यात्रियों को विभिन्न सुविधाएँ प्रदान कर रही है। छात्राओं को उनके निवास से लेकर शिक्षण संस्थानों तक 150 किलोमीटर तक की मुफ्त परिवहन सुविधा प्रदान की जा रही है। इसके अलावा, राज्य सरकार 41 विभिन्न श्रेणियों के लोगों को मुफ्त/रियायती यात्रा सुविधाएं भी प्रदान कर रही है। इसमें कैंसर रोगियों को एक अटेंडेंट (परिचर) सहित मुफ्त यात्रा की सुविधा भी शामिल है।
  • उन्होंने कहा कि हालांकि कोविड-19 के कारण राज्य में बसों की आवाजाही प्रभावित हुई है, लेकिन अब 50 प्रतिशत से अधिक बसों का परिचालन फिर से शुरू हो गया है। हरियाणा रोडवेज की बसों के अलावा, राज्य में किलोमीटर स्कीम के तहत भी बसें संचालित की जा रही हैं।
  • इससे पहले, मुख्यमंत्री ने ग्राम पंचायत अग्रोहा को भी बधाई दी, जिसने इस बस स्टैंड के निर्माण के लिए 99 साल के पट्टे पर प्रति वर्ष एक रुपये की दर से 12 कनाल पंचायत भूमि प्रदान की है।
  • अग्रोहा के इस नवनिर्मित बस स्टैंड में पुरुष, महिला और दिव्यांगों के लिए अलग शौचालय का प्रावधान भी किया गया है। इसके अलावा, यात्रियों की सुविधा के लिए कैंटीन, पीने का साफ पानी और बैठने की व्यवस्था भी की गई है।
  • इस अवसर पर हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने अग्रोहा में नवनिर्मित बस स्टैंड के उद्घाटन को एक ऐतिहासिक अवसर बताया और कहा कि यह बस स्टेंड सीधे तौर पर आसपास के 25 गांवों के लोगों की परिवहन आवश्यकताओं को पूरा करेगा। यह नया बस स्टैंड हरियाणा की परिवहन सेवा को एक नया रूप देगा जो देश में पहले से ही सबसे अच्छी है ।
  • परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का नवनिर्मित बस स्टैंड का उद्घाटन करने के लिए धन्यवाद किया और कहा कि अग्रोहा और आसपास के गांवों के लोगों को इस सुविधा से बड़े पैमाने पर लाभ होगा।
  • इस अवसर पर परिवहन विभाग के प्रधान सचिव श्री अनुराग रस्तोगी और परिवहन विभाग के निदेशक श्री वीरेन्द्र कुमार दहिया भी उपस्थित थे।