प्रेस विज्ञप्ति

30 जुलाई 2020
30-07-2020
30 जुलाई 2020

  • चंडीगढ़, 30 जुलाई- भिवानी जिले के रोहनात गाँव के रहने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के सबसे बुजुर्ग वंशज श्री आत्मा राम के लिए 15 अगस्त 2020 को 74वां स्वतंत्रता दिवस समारोह उनके जीवन का सबसे खास और यादगार अवसर होगा, जब वह अपने गाँव में उपायुक्त की मौजूदगी में तिरंगा फहराएंगे। प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 में रोहनात गांव की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी।
  • यह निर्णय आज यहां हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आयोजित रोहनात फ्रीडम ट्रस्ट के गवर्निंग ट्रस्टीज़ की पहली बैठक में लिया गया। बैठक के दौरान भिवानी के उपायुक्त श्री अजय कुमार ने मुख्यमंत्री की ओर से श्री आत्माराम के प्रति आभार प्रकट करते हुए उन्हें शॉल भेंट कर उनका सम्मान किया। इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने श्री आत्मा राम को स्वर्गीय श्रीमती बेदो देवी के स्थान पर नए गवर्निंग ट्रस्टी के रूप में नियुक्त करने की स्वीकृति प्रदान की।
  • बैठक में मुख्यमंत्री ने लगभग 1 करोड़ रुपये की लागत से गांव में करवाए जाने वाले विकास कार्यों को भी मंजूरी प्रदान की, जिसमें गांव में स्थापित शहीद स्मारक में पुस्तकालय की स्थापना, ढाब जोहड़, बरगद के पेड़ और कुएं का सौंदर्यकरण, गांव के स्कूल एवं स्ट्रीट लाइट के लिए सौर परियोजना तथा गांव रोहनात से बोहल तक सम्पर्क सडक़ को पक्का करना शामिल है।
  • प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में रोहनात गांव के वीर सपूतों द्वारा दिए गए अहम योगदान का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि रोहनात गांव हम सभी के लिए प्रेरणा है और गांव के इस महत्वपूर्ण योगदान के सम्मान में ही 21 सितम्बर, 2018 को रोहनात फ्रीडम ट्रस्ट की स्थापना की गई थी ताकि गाँव का समुचित विकास सुनिश्चित किया जा सके।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि 23 मार्च, 2018 को शहीदी दिवस के अवसर पर अमर बलिदान देने वाले रोहनात के ग्रामीणों के दर्द को समझते हुए पहली बार उन्होंने स्वयं गाँव में राष्ट्रीय ध्वज फहराकर रोहनात फ्रीडम ट्रस्ट बनाने की घोषणा की थी।
  • मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि गाँव के इतिहास पर बनी प्रेरणादायक फिल्म को रोहनात गाँव के साथ-साथ आस-पास के गाँवों और खण्डों में प्रदर्शित किया जाए। इसके अलावा, उन्होंने यह भी निर्देश दिए कक्षा आठवीं की इतिहास की पुस्तक में शामिल अध्याय शीर्षक '1857 की क्रांति में रोहनात गांव का योगदान' को भी ग्राम सभाओं में बच्चों द्वारा व्यापक रूप से बताया जाना चाहिए
  • उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि अधिकारी ट्रस्ट को आवंटित एक करोड़ रुपए की राशि से गांव के 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों का नि:शुल्क ईलाज करवाना सुनिश्चित करें।
  • इस अवसर पर गाँव की सरपंच श्रीमती रेणू ने रोहनात फ्रीडम ट्रस्ट बनाने और गाँव में विभिन्न विकास कार्यों के लिए धन आवंटित करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।
  • मुख्यमंत्री ने सरपंच को आश्वासन दिया कि भविष्य में भी राज्य सरकार शिक्षा, रोजगार, कौशल प्रशिक्षण, भवनों के निर्माण, स्वास्थ्य सुविधाओं, युवाओं के विकास और महिलाओं और बुजुर्गों के कल्याण के लिए विकास कार्य करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।
  • बैठक में उपायुक्त ने बताया कि रोहनात गाँव के विकास के लिए मुख्यमंत्री द्वारा कुल 12 घोषणाएँ की गई हैं, जिनमें से आठ पर कार्य पूरा हो चुका है और शेष चार घोषणाओं पर कार्य प्रगति पर है। इन विकास कार्यों पर अब तक लगभग 296 लाख रुपये खर्च किये जा चुके हैं। इसके अतिरिक्त, 10 अन्य विकास कार्य हरियाणा ग्रामीण विकास कोष के तहत करवाए गए हैं जिन पर लगभग 136.77 लाख रुपये की राशि खर्च हुई है।
  • बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के प्रधान सचिव श्री आनंद मोहन शरण भी उपस्थित थे।
     
  • चंडीगढ़, 30 जुलाई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कल केन्द्रीय मंत्रिमण्डल द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को मंजूरी प्रदान करने के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा है कि बदलते वैश्विक परिदृश्य के मद्देनजर नई नीति स्कूली, उच्चतर शिक्षा व व्यावसायिक शिक्षा में कारगर सिद्ध होगी।
  • मुख्यमंत्री ने नई शिक्षा नीति पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि पिछले 5 वर्षों से शिक्षा नीति तैयार करने के लिए अभूतपूर्व सहयोगात्मक, समावेशी और अत्यधिक भागीदारी वाली परामर्श प्रक्रिया की शुरूआत की गई थी। देश की 2.5 लाख ग्राम पंचायतों, शहरी स्थानीय निकायों व जिलों से प्राप्त दो लाख से अधिक सुझावों को इस नीति में शामिल किया गया, जो इस नीति की प्रमुख विशेषता है। उन्होंने कहा कि सभी स्टेकहोल्डर्स व शिक्षाविदों के सुझावों को भी शामिल किया गया है।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा पहले की तरह लाभ के लिए नहीं, व्यवहार पर आधारित होगी और अन्तर्राष्ट्रीयकरण को संस्थागत रूप से सहयोग तथा छात्र और संकाय की गतिशीलता दोनों के माध्यम से सुगम बनाएगी।
  • मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त की है कि हरियाणा का शिक्षा विभाग भी इस नीति का अक्षरश: अनुसरण करेगा और इससे बच्चों का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित होगा।