प्रेस विज्ञप्ति

30 मार्च 2021
30-03-2021

चंडीगढ़, 30 मार्च- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आज यहां हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक हुई, जिसमें लगभग 400 करोड़ रुपये की विभिन्न विभागों द्वारा खरीद की जाने वाली वस्तुओं की सरकारी खऱीद को मंजूरी दी गई है।

बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने बताया कि ऑनलाइन शिक्षा को और अधिक बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के स्कूलों को वेब बेस्ड स्मार्ट क्लासरूम में बदलने की आवश्यकता है। इसके लिए आज की बैठक में आवश्यक उपकरणों की खरीद को मंजूरी दी गई है। इसी प्रकार, स्कूलों में आउटडोर और इनडोर खेल के लिए लगभग 25 करोड़ रुपये की खेल-कूद की 38 वस्तुओं की भी खरीद को मंजूरी दी गई है।

1 अप्रैल, 2021 से शुरू हो वस्तुओं की सरकारी खऱीद को मंजूरी दी गई है।ने वाली रबी खरीद सीजन के संबंध में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि संबंधित विभागों द्वारा सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मंडियों में भी सभी आवश्यक प्रबंध किये जा चुके हैं, किसानों और आढ़तियों को फसल खरीद प्रकिया में किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इस बार फसल खरीद का भुगतान सीधे किसानों के खातों में किया जाएगा। आढ़ती और किसान के बीच का भुगतान उनके बीच का मामला है, सरकार भुगतान सीधे किसान को करेगी।

पंजाब में बीजेपी विधायक श्री अरुण नारंग पर हुए हमले के संबंध में पूछे गए प्रश्न का उत्तर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह घटना निंदनीय है और इस घटना को पंजाब सरकार व केंद्र सरकार के संज्ञान में लाए हैं। श्री मनोहर लाल ने कहा कि लोकतंत्र में हर किसी को अपनी बात रखने का पूरा अधिकार है। आंदोलनकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बात कहें, उससे किसी को कोई समस्या नहीं है, पर अपनी बात कहने का कोई और तरीका अपनाना गलत है।

लोकतांत्रिक तरीके से चीजों को आगे बढ़ाना चाहिए। लोकतंत्र को कभी खतरे में नहीं डालना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे सभी नेता व राजनेता जो इस प्रकार के अंदोलनों की अगुवाई करते हैं, उन्हें सीमा में रहकर अपनी बात कहनी चाहिए।

अभय चौटाला द्वारा दिए गए एक बयान के संबंध में पूछे गए प्रश्न पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक या गैर राजनीतिक किसी भी व्यक्ति को इस प्रकार का बयान नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे सार्वजनिक तौर पर अपील करते हैं कि ऐसी बातें किसी राजनीतिज्ञ को नहीं करनी चाहिए। अगर कोई ऐसी बात करता है तो उससे सामाजिक वातावरण खराब होता है और उस नेता की साख भी गिरती है।

पार्ले जी बिस्कुट और काका नमकीन कंपनी के प्रतिनिधियों से हुई मुलाकात के संबंध में पूछे गए एक प्रश्न का जवाब देते हुए श्री मनोहर लाल ने कहा कि बाजरा की खपत बढ़ाने के संबंध में दोनों कंपनियों से बातचीत हुई है। अन्य कंपनी जो भी इस तरह की खाने की चीजें बनाती हैं, उनसे भी बातचीत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बाजरा और मक्का स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है, इसलिए सरकार बाजरे की खपत बढ़ाने के प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने मोटा अनाज के उपभोग का आह्वान करते हुए वर्ष 2023 को मिलेट इयर घोषित किया है ताकि लोग स्वस्थ रहें। इसलिए बाजरा व मक्का का उपयोग बढऩा चाहिए, जिससे बीमारी कम होंगी।