प्रेस विज्ञप्ति

31 मार्च 2021
31-03-2021
31 मार्च 2021

चंडीगढ़, 31 मार्च- हरियाणा सरकार द्वारा एक तरफ जहां प्रदेश के किसानों के हित में बाजरे के एक-एक दाने की खरीद सुनिश्चित की जा रही है वहीं इसकी खपत बढ़ाने को लेकर भी सरकार काफी गंभीर है। साथ ही, उन्होंने अधिकारियों को फूड प्रोडक्ट में बाजरे की खपत बढ़ाने की संभावनाएं तलाशने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज बाजरे की खपत को लेकर पारले जी, आईटीसी, ओम स्वीट्स, हरीश बेकरी, काकाजी बेकरी और बीकानेर जैसी मशहूर कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बाजरे की खपत बढ़ाने को लेकर चर्चा की। बैठक में उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला तथा कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जेपी दलाल भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने कंपनी प्रतिनिधियों से रूबरू होते हुए कहा कि वे आगामी 2 से 3 महीने में इस तरह की कोई योजना बनाएं कि फूड प्रोडक्ट में बाजरे की खपत कैसे की जा सकती है। इस दौरान मुख्यमंत्री को अवगत करवाया गया कि बाजरे से बने बिस्कुट लोगों में काफी लोकप्रिय हो रहे हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि इसका उत्पादन बढ़ाया जाए जिसके लिए स्वयं सहायता समूहों की भी मदद ली जा सकती है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने मोटे अनाज के उपभोग को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से वर्ष 2023 को ‘मिलेट इयर’ घोषित किया है ताकि लोग स्वस्थ रहें।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कंपनी प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिलाया कि वे इस दिशा में लगातार प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए ट्रायल किए जा रहे हैं और जल्द ही अच्छे परिणाम मिलेंगे।

बैठक में राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टीवीएसएन प्रसाद, स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री महावीर सिंह, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ.सुमिता मिश्रा, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अनुराग रस्तोगी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव तथा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के प्रधान सचिव श्री वी.उमाशंकर, अतिरिक्त प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़, महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव डॉ. राकेश गुप्ता, हैफेड के प्रबंध निदेशक श्री डी.के. बेहरा और ग्रामीण विकास विभाग के निदेशक श्री हरदीप सिंह समेत विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।