उपलब्धिया

आबकारी एवं कराधान
आबकारी एवं कराधान

  • जो ग्राम सभा शराब का ठेका नहीं खोलने का प्रस्ताव पारित कर सरकार को देगी उन गांवों में शराब के ठेके न खोलने का निर्णय लिया गया। अब तक कुल 872 ग्राम पंचायतों से प्रस्ताव प्राप्त हुये है।
  • वैश्विक महामारी कोरोना के चलते प्रदेश हित में 115 Manufacturing Units Distillery, Bottling Plants को सैनीटाईजर बनाने की अनुमति प्रदान की गई।
  • लाकडाउन अवधि में 1272 रिफंड पत्रों का निपटान किया और लगभग 160 करोड़ का भुगतान करदाताओं को किया गया।
  • फरवरी, मार्च और अप्रैल, 2020 महीने की जीएसटीआर-3 बी रिटर्न व जीएसटीआर-1 प्रस्तुत करने में देरी के लिए देय शुल्क माफ किया गया।
  • फरवरी, मार्च और अप्रैल, 2020 महीनों के लिए जीएसटीआर-3 बी दाखिल करते समय देय ब्याज की दर को सशर्त कम करके करदाताओं को राहत।
  • वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए कम्पोजिशन स्कीम का विकल्प चुनने वाले करदाताओं को 30 जून 2020 तक सीएमपी-2 के रूप में अपना विकल्प दाखिल करने की अनुमति दी गई है।
  • फार्म जीएसटी सीएमपी-08 जिसमें स्वः-आकलित कर के भुगतान का विवरण दर्ज किया जाता है, को दायर करने की तिथि को 7 जुलाई, 2020 तक बढ़ाया गया है और 31.03.2020 को समाप्त होने वाले वित्तीय वर्श की जीएसटीआर-4 को दायर करने की तिथि को 15.07.2020 तक बढ़ाया गया है।
  • 6 मई, 2020 से 19 मई, 2021 तक चलेगा आबकारी वर्ष।