प्रेस विज्ञप्ति

24 मार्च 2021
24-03-2021
24 मार्च 2021

चण्डीगढ़, 24 मार्च- प्रदेश के हर खेत में पानी पहुंचाने के वायदे को पूरा करने के लिए ऐलनाबाद के किसानों ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का किसानी का प्रतीक चिन्ह हल भेंट कर आभार व्यक्त किया।

मुख्यमंत्री चण्डीगढ स्थित निवास स्थान पर जनससमयांओं की सुनवाई कर रहे थे। प्रतिनिधिमण्डल में ऐलनाबाद के गांव राजपुरा साहनी व आसपास के किसान शामिल थे। किसानों ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि उनके क्षेत्र में माईनर का निर्माण होने से हर खेत में पानी मिलना शुरू हो गया है। इसके अलावा सरकार द्वारा कई विकास कार्य भी करवाए गए हैं जिनका लाभ ग्रामीणों को मिल रहा है।

किसानों ने कहा कि विकास क्लब के माध्यम से भी गांवों में सामाजिक गतिविधियां संचालित की जा रही है। इस पर मुख्यमंत्री ने किसानों से उनकी स्थानीय बोली में बातचीत की और क्लब को 5 लाख रुपए की राशि देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने राज्य परिवहन की बस वाया खेड़ी राजपुरा साहनी से चलाने के भी निर्देश दिए।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने लेक्चरर प्रतिनिधि मण्डल की समस्या का निवारण करते हुए उनकी पीएचडी/नेट में देरी के कारण अपेक्षित शैक्षणिक योग्यता प्राप्त करने का एक ओर अवसर प्रदान करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 4 मार्च 2020 की पोलिसी अनुसार अधिकारी समेस्टर शर्त का अवलोकन करें और उच्च शिक्षण संस्थाओं में वर्कलोड जांच कर 5 अप्रैल 2021 तक रिपोर्ट प्रस्तुत करें।

प्राथमिक शिक्षक संघ की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतर जिला तबादला नीति में तीन साल की अवधि पूरी करने वालों को लाभ दिया जाए। उन्होंने कहा कि जिन शिक्षकों ने अब तक ज्वाईन नहीं किया है उनकी ज्वाईनिंग करवाई जाए और जिन्हें तीन साल हो गए हैं उनसे ऑप्शन मांग कर संबधित व नजदीकी जिलों में पोस्टिंग की जाए। ऐसे में शिक्षकों को वरिष्ठता का लाभ नहीं मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन जेबीटी शिक्षकों की परिवार पहचान पत्र व अन्य किसी प्रकार के सर्वे कार्य में डयूटी लगाई जाती है तो उन्हें सरकार की और से मानदेय प्रदान किया जाता है। ऐसे शिक्षक स्कूल समय के बाद यह कार्य करें। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को समाज सेवा समझते हुए ऐसा कार्य पूरी जिम्मेवारी के साथ करना चाहिए। सरकार का प्रयास है कि जल्द से जल्द एक लाख गरीब परिवारों की पहचान कर उन्हें गरीबी रेखा से ऊपर उठाया जाए। मुख्यमंत्री ने ग्राम पंचायत झज्जर की मांग पर धौड़ के स्कूल को इसी सत्र से अपग्रेड कर संस्कृति मॉडल स्कूल बनाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश की अन्य ग्राम पंचायतों को धौड़ ग्राम पंचायत से प्रेरणा लेनी चाहिए और अपने गांवों के स्कूलों को मॉडल के रूप में विकसित करने पर बल देना चाहिए।

प्राईवेट स्कूल एसोसिएशन की मांग पर एसएलसी/टीसी के मामले में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मामला सरकार के संज्ञान में है। सरकार द्वारा कमेटी गठित कर उसकी रिपोर्ट आधार पर शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने स्टोन क्रेशर युनियन की मांग पर स्टोन के्रेशर चक्कियों में धर्मकांटा लगाने की नियमानुसार छूट देने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने वेटरनरी एसोसिएशन की मांग पर वीएलडीए डिप्लोमा में दाखिला मेडिकल स्ट्रीम से करने तथा द्वितीय श्रेणी का दर्जा देने का निर्णय लेने के लिए आगामी एक माह में कार्रवाई पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपमण्डल स्तर पर वीएलडीए पदों को नार्म अनुसार एवं पशुओं की संख्या आधार पर रेशनलाईजेशन करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने पोल्ट्री फार्म एसोएिसशन की मंाग पर बर्ड फ्लु के लिए वैक्सिन शुरू करने हेतू केन्द्र सरकार को पत्र लिखने के निर्देश दिए।

रविदास सभा कुरूक्षेत्र के पदाधिकारियों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव उमरी की पांच एकड़ भूमि के प्रस्ताव करने बारे शीघ्र आवश्यक कार्रवाई की जाए। इस भूमि पर संत रविदास जी के नाम पर भव्य स्मारक एवं भवन का निर्माण किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार गरीब परिवारों की भलाई के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने सभा के पदाधिकारियों से ऐसे गरीब परिवारों की सूची देने का भी अनुरोध किया जिन्हें स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण प्रदान कर आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जा सके। मुख्यमंत्री ने कोरोना काल में समय पर सडक़ कार्य पूरा न करने वाले हॉट मिक्स प्लांट को तीन माह की अस्थाई अनुमति देने के निर्देश दिए। डाटा एंट्री ऑपरेटर युनियन ने उनकी तनख्वाह बढाने पर मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर यमुनानगर विधायक घनश्याम दास अरोड़ा, बवानी खेड़ा के विधायक बिश्मभर दास, भिवानी के विधायक घनश्याम दास, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सलाहकार कृष्ण बेदी,मुख्यमंत्री के ओएसडी भूपेश्वर दयाल, एसीएस टी सी गुप्ता, राजीव अरोड़ा, एस एन राय, टीवीएसएन प्रसाद, आनन्द मोहन शरण, महानिदेशक शिक्षा नितिन यादव, विजय सिहं दहिया, उप प्रधान सचिव आसिमा बराड़, सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।